Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

नवीन जानकारीStop

more...

Hit Counter 0000624610 Since: 06-11-2013

प्रथम सत्र 2013

प्रिंट

उत्तराखण्ड विधान सभा के 14 मार्च, 2013 से 21 मार्च, 2013 तक चले अधिवेशन के दौरान निष्पादित हुए कार्य का सारांश
उत्तराखण्ड की तृतीय विधान सभा का वर्ष 2013 का प्रथम सत्र 14 मार्च, 2013 को महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण से प्रारम्भ हुआ तथा 21 मार्च, 2013 को अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया। सत्र में सदन द्वारा वित्तीय वर्ष 2013-14 के आय-व्ययक एवं कुछ अन्य महत्वपूर्ण विधेयकों पर विचार एवं पारण आदि मुख्य कार्य निष्पादित किये गये। सत्र में कुल मिलाकर 5 उपवेशन हुए तथा सत्र के दौरान मा0 सदस्यों की औसत उपस्थिति 93.8ः रही।
दिनांक 15 मार्च, 2013 को माननीय सदस्य श्री नवप्रभात ने महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया जिस पर चर्चा 15 एवं 19 मार्च, 2013 को हुई तथा पारण 19 मार्च, 2013 को हुआ।
माननीय वित्त मंत्री ने दिनांक 20 मार्च, 2013 को वित्तीय वर्ष 2013-14 का आय-व्ययक प्रस्तुत किया जिस पर दिनांक 21 मार्च, 2013 को विचार एवं पारण हुआ। 21 मार्च, 2013 को उत्तराखण्ड विनियोग विधेयक, 2013 पुरःस्थापित हुआ और उस पर विचार एवं पारण हुआ।
सत्र में 23 सदस्यों से प्रश्नों की कुल 912 सूचनाएं प्राप्त हुईं जिसमें तारांकित एवं अतारांकित प्रश्न सम्मलित थे। इनमे से 191 को तारांकित, 566 को अतारांकित तथा 09 को अल्पसूचित प्रश्न के रूप में स्वीकार किया गया। सत्र के दौरान कुल 196 प्रश्न पूछे गये तथा उत्तर दिये गये जिनमें से 53 तारांकित, 138 अतारांकित तथा 05 अल्पसूचित प्रश्न थे।
उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली के नियम 300 के अर्न्तगत ध्यानाकर्षण की 28 सूचनाएं प्राप्त हुई, जिसमें से 10 स्वीकृत हुई, कार्य स्थगन की 15 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमें से 10 को ग्राह्यता पर सुना गया। सुनने के पश्चात सभी अस्वीकृत हुईं। नियम 53 के अर्न्तगत 20 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमंे से 04 वक्तव्य के लिए स्वीकृत हुई एवं 04 केवल वक्तव्य के लिए स्वीकृत हुई। नियम 310 के अन्तर्गत कुल सूचनाएं 10 प्राप्त हुईं। सदन में घोर व्यवधान के कारण सभी अस्वीकृत हुई।
15 मार्च, 2013 को प्रमुख सचिव, विधान सभा ने घोषणा की कि निम्नलिखित विधेयक, जिन्हें विधान सभा द्वारा पारित किया गया था पर महामहिम राज्यपाल की अनुमति प्राप्त हो गयी तथा वे उत्तराखण्ड के वर्ष 2013 के अधिनियम बन गए:-
क्र0सं0    नाम    दिनांक    वर्ष 2012-13 का
अधिनियम सं0

        सदन द्वारा पारण    महामहिम राज्यपाल की अनुमति प्राप्ति    
1    उत्तराखण्ड विनियोग (2012-2013 का प्रथम अनुपूरक) विधेयक, 2012    10.12.2012    26.12.2012    12
2    विविध राजस्व विधि (संशोधन)  विधेयक, 2012     14.12.2012    01.01.2013    वर्ष 2013-14
का अधिनियम सं0
1
3    पं0 दीनदयाल उपाध्याय
उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय
(संशोधन) विधेयक, 2012    11.12.2012    01.01.2013    2
4    ग्राफिक एरा पर्वतीय विश्वविद्यालय (संशोधन)  विधेयक, 2012     11.12.2012    01.01.2013    3
5    उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन मण्डी (विकास एवं विनियमन) (संशोधन)  विधेयक, 2012     14.12.2012    01.01.2013    4
6    उत्तराखण्ड राज्य एकल खिड़की सुगमता और अनुज्ञापन  विधेयक, 2012     14.12.2012    24.01.2013    5
7    उत्तराखण्ड परिवहन और नागरिक अवस्थापना उपकर विधेयक, 2012    14.12.2012    24.01.2013    6
8    उत्तराखण्ड बाढ़ मैदान परिक्षेत्रण विधेयक, 2012    14.12.2012    24.01.2013    7
9    उत्तराखण्ड मोटरयान कराधान सुधार (संशोधन) विधेयक, 2012    14.12.2012    24.01.2013    8
10    उत्तराखण्ड विद्युत उत्पादन पर जल उपयोग कर
विधेयक, 2012     14.12.2012    25.01.2013    9
11    डी0आई0टी0 विश्वविद्यालय विधेयक, 2012    11.12.2012    13.02.2013    10
12    उत्तरांचल विश्वविद्यालय विधेयक, 2012    11.12.2012    13.02.2013    11
13    हिमालय विश्वविद्यालय विधेयक, 2012    11.12.2012    13.02.2013    12
14    आई0एम0एस0 यूनिसन विश्वविद्यालय विधेयक, 2012    11.12.2012    13.02.2013    13


सत्रावधि में निम्न पत्र सदन के पटल पर रखे गये -
1ण्    सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा-29 की उप धारा (2) के अन्तर्गत उत्तराखण्ड सूचना का अधिकार नियमावली, 2012
2ण्    उत्तराखण्ड तृतीय विधान सभा की याचिका समिति (2012-13) का प्रथम प्रतिवेदन प्रस्तुत किया
3ण्    सड़क परिवहन निगम अधिनियम 1950 की धारा-33 (4) के अधीन उत्तराखण्ड परिवहन निगम के वार्षिक लेखे एवं सम्परीक्षा प्रतिवेदन वर्ष 2004-05, 2005-06, 2006-07, 2007-08 एवं 2008-09
4ण्    उत्तरखण्ड अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग अधिनियम, 2003 की धारा-15 के अधीन उत्तरखण्ड अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग का वार्षिक प्रतिवेदन (अप्रैल 2011 से मार्च 2012 तक) तथा राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग की रिर्पोट (2010-11 तथा 2011-12)
5ण्    एकल सदस्यीय (के0आर0 भाटी) जांच आयोग (जांच आयोग अधिनियम 1952 की धार-3 के अन्तर्गत) प्रतिवेदन भाग-1
6ण्    केन्द्रीय विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा-105 के अन्तर्गत राज्य विद्युत नियामक  आयोग के वर्ष 2011-12 की वार्षिक रिपोर्ट
7ण्    केन्द्रीय विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा-182 के अधीन उत्तराखण्ड विद्युत नियामक  आयोग के विनियमों के निम्नलिखित संकलन
1 उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (नवीनीकरण ऊर्जा स्रोतांे तथा गैर जीवाश्म     ईधन आधारित, सह उत्पादन स्टेशनों से विद्युत की आपूर्ति हेतु शुल्क एवं अन्य     निबंधन, प्रथम संशोधन) विनियम, 2012;
2 उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (नवीनीकरण ऊर्जा स्रोतांे तथा गैर जीवाश्म     ईधन आधारित, कोजैनरेशन स्टेशनों से विद्युत की आपूर्ति हेतु शुल्क एवं अन्य     निबंधन) विनियम, 2010, कठिनाईयां दूर करना (प्रथम) आदेश, 2010 (आदेश     दिनांक 28.10.2010);
3    उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (शुल्क के अवधारण हेतु निबंधन एवं शर्तें)

8ण्    निःशक्तजन अधिनियम, 1955 की धारा-65 के अन्तर्गत आयुक्त निःशक्तजन उत्तराखण्ड का निःशक्तजन अधिनियम 1995 के क्रियान्वयन का वार्षिक प्रतिवेदन (01 अप्रैल, 2010 से 31 मार्च, 2011 तक तथा 01 अप्रैल, 2011 से 31 मार्च, 2012 तक)
9ण्    उत्तराखण्ड विधान सभा के वर्ष, 2012 के तृतीय सत्र में, उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली, 2005 के नियम-300 के अन्तर्गत प्राप्त सूचनाओं पर कृत कार्यवाही का विवरण

सत्र के दौरान सभा द्वारा निम्नलिखित विधेयकों का पुरःस्थापन, विचार एवं पारण किया गया -    
1.    उत्तराखण्ड विविध अधिनियम विधिमान्यकरण विधेयक, 2013
2.    भारतीय स्टाम्प (उत्तराखण्ड संशोधन) विधेयक, 2013
3.    उत्तराखण्ड विशेष क्षेत्र (पर्यटन का नियोजित विकास और उन्नयन) विधेयक, 2013
4.    उत्तराखण्ड चिकित्सा परिचर्या सेवाकर्मी और सेवा संस्था (हिंसा और सम्पत्ति का निवारण) विधेयक, 2013
5.    उत्तराखण्ड गन्ना (खरीद एवं पूर्ति विनियम) (संशोधन) विधेयक, 2013
6.    उत्तराखण्ड ऊर्जा विकास निधि (संशोधन) विधेयक, 2013
7.    उत्तराखण्ड प्लास्टिक और अन्य जीव अनाशित कूड़ा-कचरा (उपयोग और निस्तारण विनियमन) विधेयक, 2013
8.    उत्तराखण्ड लोकायुक्त तथा उप लोकायुक्त (संशोधन) विधेयक, 2013
9.    उत्तराखण्ड जल प्रबन्धन और नियामक विधेयक, 2013
10.    उत्तराखण्ड नगर एवं ग्राम नियोजन तथा विकास (संशोधन) विधेयक, 2013
11.    उत्तराखण्ड तकनीकी विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2013
12.    उत्तराखण्ड सहकारी समिति (संशोधन) विधेयक, 2013
13.    उत्तराखण्ड विनियोग विधेयक, 2013

        सत्र के दौरान संसदीय कार्य मंत्री द्वारा प्रस्तुत निम्नलिखित प्र्रस्ताव सदन द्वारा पारित हुए।
1    ‘‘मैं यह प्रस्ताव करती हूं कि माननीय विधायकों एवं पूर्व विधायकों के वेतन, पंेशन तथा अन्य सुविधाओं पर विचार कर संस्तुति दिये जाने हेतु लोक सभा की भांति एक सात सदस्यीय समिति गठित कर दी जाए। यह समिति समय-समय पर इन सुविधाओं के सम्बन्ध में विचार कर अपनी संस्तुति विधान सभा को उपलब्ध करायेगी। समिति में सदस्यों का नामांकन किये जाने हेतु यह सदन माननीय अध्यक्ष को प्राधिकृत करता है।‘‘
2    ‘‘मैं यह प्रस्ताव करती हूं कि, यह सदन विधान सभा की लोक लेखा समिति, प्राक्कलन समिति, सार्वजनिक उपक्रम एवं निगम समिति तथा अनुसूचित जाति, जनजाति एवं विमुक्त जाति समिति में कार्य करने हेतु निर्धारित संख्या में माननीय सदस्यों को नामित करने हेतु, माननीय अध्यक्ष विधान सभा को प्राधिकृत करता है और इस प्रकार नामित सदस्य विधान सभा द्वारा विधिवत् निर्वाचित समझे जायेंगे।‘‘
    महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन के पश्चात् दिनांक 21 मार्च, 2013 के उपवेशन की समाप्ति पर मा0 अध्यक्ष द्वारा सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया। 10 अप्रैल, 2013 को महामहिम राज्यपाल द्वारा सत्रावसान की घोषणा कर दी गई।