Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Hit Counter 0000575342 Since: 06-11-2013

तृतीय सत्र

प्रिंट



उत्तराखण्ड विधान सभा के 21 दिसम्बर, 2009 से 24 दिसम्बर, 2009 तक चले अधिवेशन के दौरान निष्पादित हुए कार्य का सारांश

उत्तराखण्ड की द्वितीय विधान सभा 2009 का तृतीय सत्र 21 दिसम्बर, 2009 को प्रारम्भ हुआ तथा 24 दिसम्बर, 2009 को अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया। सत्र में सदन द्वारा वित्तीय वर्ष 2009-10 के अनुपूरक अनुदान की मांगों का प्रस्तुतीकरण, चर्चा व पारण व कुछ महत्वपूर्ण विधेयकों पर विचार एवं पारण आदि मुख्य कार्य निष्पादित किये गये। सत्र में कुल मिलाकर 4 उपवेशन हुए।
सत्र के दौरान मा0 सदस्यों की औसत उपस्थिति 95.78ः रही। उपवेशनों के दौरान महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन के पश्चात 24 दिसम्बर, 2009 को सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया।
सत्र के दौरान सदन द्वारा स्व0 श्री नारायण राम दास पूर्व सदस्य उत्तराखण्ड विधान सभा को श्रद्धांजली अर्पित की गयी। मा0 अध्यक्ष, मा0 संसदीय कार्य मंत्री, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी एवं उत्तराखण्ड क्रान्ति दल के संसदीय दलों के नेताओं तथा अन्य सदस्यों ने दिवंगत आत्माओं के प्रति शोक संवेदनाएं प्रकट की।
22 दिसम्बर, 2009 के उपवेशन में माननीय मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2009-10 का अनुपूरक अनुदान प्रस्तुत किया जिस पर दिनांक 23 दिसम्बर, 2009 को विचार एवं पारण हुआ।
सत्र में प्रश्नकाल में कुल मिलाकर 22 मा0 सदस्यों ने प्रश्नों की सूचनाएं पटल पर रखीं। कुल 434 प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुईं जिसमें तारांकित एवं अतारांकित प्रश्न भी सम्मिलित थे। इनमें से 86 को तारांकित, 261 को अतारांकित तथा 7 को अल्पसूचित प्रश्न के रूप में स्वीकार किया गया। सत्र के दौरान कुल 232 प्रश्न पूछे गये तथा उत्तर दिये गये जिनमें से 47 तारांकित, 181 अतारांकित तथा 4 अल्पसूचित प्रश्न थे।     
सत्र में उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली के नियम 300 के अर्न्तगत 23 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमें से 21 स्वीकृत हुई। नियम 58 के अर्न्तगत कार्य स्थगन की 45 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमें से 14 को ग्राह्यता पर सुना गया। तथा 10 सूचनाएं ध्यानाकर्षण हेतु ली गई सुनने के पश्चात सभी अस्वीकृत हुई। नियम 53 के अर्न्तगत 21 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमंे से 15 स्वीकृत हुई।
21 दिसम्बर, 2009 को सचिव, विधान सभा ने घोषणा की कि निम्नलिखित विधेयक, जिन्हें विधान सभा द्वारा पारित किया गया था पर महामहिम राज्यपाल की अनुमति प्राप्त हो गयी तथा वे निम्नानुसार उत्तराखण्ड के अधिनियम बन गए-
क्र0सं0    नाम    दिनांक    वर्ष 2009
अधिनियम सं0


        सदन द्वारा पारण    अनुमति प्राप्ति    
1    उत्तराखण्ड परा चिकित्सा परिषद विधेयक, 2009     14.07.2009    17.07.2009    6
2    उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय विधेयक, 2009    17.07.2009    20.07.2009    7
3    उत्तराखण्ड ख्उत्तर प्रदेश लोक सेवा (अधिकरण),
(संशोधन) विधेयक, 2009    17.07.2009    20.07.2009    8
4    उत्तराखण्ड ख्उत्तर प्रदेश गन्ना (खरीद एवं पूर्ति विनियम) अधिनियम,
1953,(संशोधन) विधेयक, 2009    20.07.2009    22.07.2009    9
5    उत्तराखण्ड विनियोग  विधेयक, 2009    24.07.2009    25.07.2009    10


सत्रावधि में निम्न पत्र सदन के पटल पर रखे गयेः-
1ण्    उत्तराखण्ड तकनीकी विश्वविद्यालय (संशोधन) अध्यादेश, 2009
2ण्    उत्तराखण्ड ख्उत्तर प्रदेश राज्य मण्डल (अनर्हता निवारण) अधिनियम 1971, (संशोधन) अध्यादेश, 2009
3ण्    ‘‘भारत का संविधान‘‘ के अनुच्छेद 323 (2) के अधीन उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग के सप्तम वार्षिक प्रतिवेदन (01 अप्रैल, 2007 से 31 मार्च, 2008 तक)
4ण्     विधान सभा सदन के अनुसमर्थन हेतु प्राप्त संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित रूप में उत्तराखण्ड द्वितीय विधान सभा की प्रवर समिति का प्रथम प्रतिवेदन संविधान (एक सौ नौवां संशोधन) विधेयक, 2009
5ण्     उत्तराखण्ड विधान सभा के वर्ष, 2009 के द्वितीय सत्र मंे, उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य-संचालन नियमावली, 2005 के नियम 300 के अन्तर्गत प्राप्त सूचनाओं पर कृत कार्यवाही का विवरण
6ण्    उत्तराखण्ड लेखा परीक्षा अधिनियम, 1984 की धारा 8 (3) के अन्तर्गत वर्ष 2008-2009 का स्थानीय निधि लेखा परीक्षा प्रभाग का वार्षिक लेखा परीक्षा प्रतिवेदन तथा वर्ष 2008-2009 का सहकारी समितियां एवं पंचायतें लेखा परीक्षा प्रभाग का वार्षिक लेखा परीक्षा प्रतिवेदन
7ण्    संविधान के अनुच्छेद-151 के खण्ड (2) के अधीन भारत के नियंत्रक-महालेखापरीक्षक से प्राप्त 31 मार्च, 2008 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए उत्तराखण्ड सरकार का त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम (ए0आई0बी0पी0) पर लेखापरीक्षा प्रतिवेदन
8ण्     संविधान के अनुच्छेद-151 के खण्ड (2) के अधीन भारत के नियंत्रक-महालेखापरीक्षक से प्राप्त 31 मार्च, 2008 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए उत्तराखण्ड सरकार का राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम (रा0ग्रा0स्वा0मि0) पर लेखापरीक्षा प्रतिवेदन
9ण्    केन्द्रीय विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 105 के अन्तर्गत राज्य विद्युत नियामक आयोग के वर्ष 2008-2009 की वार्षिक रिपार्ट
10ण्    केन्द्रीय विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 182 के अधीन उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग के विनियमों के निम्नलिखित संकलन।
(1) वितरण अनुज्ञापी द्वारा एच0टी0/ई0एच0टी0 संयोजनों के संविदाकृत भार में वृद्धि/कमी करवाने के लिए कार्य प्रभार,
(2)     उत्तराखण्ड वितरण विद्युत नियामक आयोग (नये ई0एच0टी0 व एच0टी0 संयोजनों का जारी करना, भार में वृद्धि एवं कमी) विनियम, 2008,
(3)     उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (पारेषण दर के निर्धारण हेतु नियम व शर्तें) (प्रथम संशोधन) विनियम, 2008,
(4)     उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (ओम्बड्समैन की नियुक्ति एवं कार्य क्षेत्र) (प्रथम संशोधन) विनियम, 2008,
(5)     उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (उपभोक्ताओं की शिकायत निवारण हेतु सदस्यों की नियुक्ति तथा मंच द्वारा अपनाई जाने वाली प्रक्रिया संबंधी मार्गदर्शिका) (प्रथम संशोधन) विनियम, 2009,
(6)     उत्तरांचल विद्युत नियामक आयोग (जल उत्पादन की दर के अवधारणा हेतु निबन्धन व शर्तें) विनियमक, 2004,
(7)     उत्तरांचल विद्युत नियामक आयोग (वितरण दर अवधारणा हेतु निबन्धन व शर्तें) विनियम, 2004,
(8)     उत्तरांचल विद्युत नियामक आयोग (पारेषण दर अवधारणा हेतु निबन्धन व शर्तें) विनियम, 2004,
(9)     उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग (विद्युत आपूर्ति संहिता) (द्वितीय संशोधन) विनियम, 2009,
विधान सभा द्वारा निम्नलिखित विधेयकों का पुरःस्थापन, विचार एवं पारण किया गयाः-
1.     उत्तराखण्ड ऊर्जा विकास निधि (संशोधन) विधेयक, 2009
2.     उत्तराखण्ड ख्उत्तर प्रदेश राज्य विधान मण्डल (अनर्हता निवारण)     
      अधिनियम, 1971,,(संशोधन) विधेयक, 2009
3.    उत्तराखण्ड ख्उत्तर प्रदेश राज्य विधान मण्डल (अधिकारियों के वेतन तथा भत्ते), (संशोधन) विधेयक, 2009
4.    उत्तराखण्ड राज्य विधान सभा (सदस्यों की उपलब्धियां और पेंशन) (संशोधन) विधेयक, 2009
5.    उत्तराखण्ड (उत्तरांचल मूल्य वर्धित कर अधिनियम, 2005) (तृतीय संशोधन) विधेयक, 2009
6.    उत्तराखण्ड राजभाषा विधेयक, 2009
7.    उत्तराखण्ड मंत्री (वेतन, भत्ता और प्रकीर्ण उपबन्ध) विधेयक, 2009
8.     उत्तराखण्ड तकनीकी विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2009
9.    उत्तराखण्ड (उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद अधिनियम, 1965) (संशोधन) विधेयक, 2009
10.     उत्तराखण्ड (उत्तर प्रदेश विशिष्ट क्षेत्र विकास प्राधिकरण अधिनियम, 1986) (संशोधन) विधेयक, 2009
11. उत्तराखण्ड (उत्तर प्रदेश नगर नियोजन एवं विकास अधिनियम, 1973) (संशोधन) विधेयक, 2009
12.     उत्तराखण्ड विनियोग (2009-2010) का अनुपूरक विधेयक, 2009
23 दिसम्बर के उपवेशन में उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रवर समिति द्वारा यथा प्रतिवेदित निम्न विधेयकों पर भी विचार एवं पारण हुआ।
1.    इक्फाई विश्वविद्यालय अधिनियम, 2003 (संशोधन) विधेयक, 2009
2. देव संस्कृति विश्वविद्यालय अधिनियम, 2002 (संशोधन) विधेयक, 2009
3. हिमगिरी नभ विश्वविद्यालय (यूनिवर्सिटी इन द स्काई) अधिनियम, 2003 (संशोधन) विधेयक, 2009
4. पतंजलि विश्वविद्यालय अधिनियम, 2006 (संशोधन) विधेयक, 2009
5. पेट्रोलियम एवं ऊर्जा उध्ययन विश्वविद्यालय अधिनियम, 2003 (संशोधन) विधेयक, 2009
    दिनांक 24 दिसम्बर, 2009 के उपवेशन में सदन द्वारा ‘‘यह सदन विकलांग जन (समान अवसर, अधिकारों का संरक्षण एवं पूर्ण भागीदारी) अधिनियम, 1995 की धारा 13 की उप धारा (1) एवं (2) के खण्ड (छ) के अन्तर्गत ‘‘राज्य समन्वय समिति‘‘ में विधान सभा के दो माननीय सदस्यगणों को नामित करने हेतु माननीय अध्यक्ष को प्राधिकृत करता है तथा इस प्रकार नामित सदस्य विधान सभा द्वारा विधिवत् निर्वाचित समझे जायेंगे।‘‘ अधिकृत किया गया इसी दिन नेता सदन ने घोषणा की कि  विधायक निधि की राशि 1 करोड़ 50 लाख से बढ़ाकर 2 करोड़ रूपये कर दी गई।
24 दिसम्बर, 2009 के उपवेशन की समाप्ति पर मा0 अध्यक्ष द्वारा सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया। 5 जनवरी, 2010 को महामहिम राज्यपाल द्वारा सत्रावसान की घोषणा कर दी गई।