कार्यवाही

प्रिंट

 

कार्यवाही के संबंध में नियमावली के अंश

कार्यवाही के संबंध में निदेश के अंश

"कार्यवाही का अभिलेख तथा प्रतिवेदन

301-सभा की कार्यवाही का अभिलेख-(1) सचिव सभा की कार्यवाही का एक वृत्त पत्र, जिसमें सभा के प्रत्येक दिन के विनिश्चयों का संक्षिप्त अभिलेख लिखा जायेगा, रखेगें।
(2) सदन के प्रत्येक उपवेशन के उपरान्त अध्यक्ष वृत्त-पत्र पर हस्ताक्षर करेंगे और इस प्रकार हस्ताक्षर हो जाने पर यह वृत्त-पत्र सदन के विनि्श्चयों का प्रमाणिक अभिलेख बन जायेगा।
(3) वृत्त-पत्र को छापा जायेगा और उसकी प्रतिलिपियां सदस्यों को चार दिन के भीतर उपलब्ध कर दी जायेंगी।
302- सभा की कार्यवाही का प्रतिवेदन-(1) सचिव, सभा के प्रत्येक उपवेशन की कार्यवाही का सम्पूर्ण और शुद्ध प्रतिवेदन भी तैयार करायेंगे तथा उनको ऐसे रूप में और ऐसे ढंग से जैसा कि अध्यक्ष समय-समय पर निर्देश दें, प्रकाशित करायेंगे।
(2) ऐसे प्रतिवेदन की एक प्रतिलिपि तीन मास के भीतर सचिव द्वारा सभा के प्रत्येक सदस्य तथा राज्यपाल को भेजी जायेगी।
303-सदन की कार्यवाही से शब्दों का निकाला जाना-(1) यदि अध्यक्ष की राय हो कि सदन में कोई ऐसा शब्द या ऐसे शब्द प्रयुक्त किये गये हैं जो मानहानिकारक या अशिष्ट या असंसदीय या अभद्र हैं, तो वे स्वविवेक से आदेश दे सकेंगे कि ऐसा शब्द या ऐसे शब्द सदन की कार्यवाही में से निकाल दिये जायं।
(2) सदन की कार्यवाही में से इस प्रकार निकाले गये अंश छापे नहीं जायेंगे अपितु उस के स्थान पर तारांक लगाया जायेगा और कार्यवाही में निम्नलिखित व्याख्यात्मक टिप्पणी समाविष्ट की जायेगी:-
‘‘अध्यक्ष पीठ से दिये गये आदेशानुसार अमुक-अमुक तिथि को निकाला गया।’’ "

‘‘(कग) सदन की कार्यवाही की वीडियों फोटेज उपलब्ध कराने संबंधी निदेश 149(ग)    सदन की कार्यवाही की वीडियों रिकॉर्डिंग तथा संपादन की स्थायी व्यवस्था होने तक यह फुटेज किसी को भी वितरित न की जाए, अत्यन्त असाधारण अपवादिक परिस्थितियों में विशेष अवसर की माननीय अध्यक्ष से विशेष आग्रह के अनुमोदनोपरान्त सचिव के निर्देशन में वीडियों रिकॉर्डिंग की संपादित क्लिप उपवेशन के दिन ही वृहद प्रसारण हेतु उपलब्ध हो सकेगी।
‘‘(कघ) कार्यवाही की प्रतियॉ उपलब्ध कराने संबंधी दिशा-निदेश

149(घ)    सदन की सम्पूर्ण और शुद्ध प्रति माननीय अध्यक्ष के अनुमोदनोपरान्त     एवं मुद्रणोंपरान्त सदन में वितरित किये जाने के पश्चात ही किसी को उपलब्ध करायी जायेगी।